sangya kise kahate hain भेद, परिभाषा, जरुरी उदहारण जाने यहाँ Download free PDF 2021

अगर आप sangya kise kahate hain इसके बारे में खोज रहे थे तो आप ने बिल्कुल सही जगह पर land किया है।

Because इस लेख के माध्यम से हमने sangya kise kahate hain संज्ञा के कितने भेद होते हैं? उदाहरण,उपयोग व वर्कशीट आदि के बारे में विस्तारपूर्वक आसान भाषा में पूरी जानकारी प्रदान करने की कोशिश की है।

संज्ञा यानी की Noun के बारे में हम सब लोग बचपन से पढ़ते आ रहे हैं Maye Be अभी भी बहुत से लोग पढ़ रहे हैं और पढ़ते रहेंगे क्योंकि संज्ञा हिंदी भाषा का एक ऐसा भाग है।

जो हम सब की life या यूँ कहे की रोजमर्रा की जिंदगी व हमारी सामान्य बोलचाल का एक बहुत बड़ा और Very Important हिस्सा है।

शायद संज्ञा न होती तो हमारी बोलचाल व भाषा अधूरी होती क्योंकि हमारी बोलचाल व लेखन प्रणाली पूरी की पूरी संज्ञा English में बोले तो Noun पर ही आधारित है, कैसे? तो चलिए संज्ञा के बारे में विस्तार से जानने की कोशिश करते हैं।

sangya kise kahate hain

इस पुरे World में उपस्थित हर चीजों जैसे व्यक्ति, वस्तु, स्थान, जाति के नामों को संज्ञा कहा जाता है। शायद इसलिए संज्ञा का अर्थ भी नाम होता है। नीचे दिए गए सभी उदाहरण संज्ञा को व्यक्त करते हैं।

उदाहरण

  • भारत (देश )
  • सुभाष चंद्र बोश ( व्यक्ति )
  • किताब (वस्तु )
  • रोना (भाव )
  • दिल्ली (स्थान )

संज्ञा (Noun ):-

वैसे अगर आप एक स्टूडेंट है तो आपने संज्ञा के बारे में सुना या पढ़ा न हो, ऐसा कभी हो ही नहीं सकता क्योंकि संज्ञा के बारे में हमें छोटे Classes जैसे First या Second से ही पढ़ाना शुरू कर दिया जाता है।

और जिसे पहले पहले समझने में हम students को काफी मुश्किल होता है लेकिन धीरे धीरे सब समझ आने लगता है जिसके चलते हम लोग Exams में अच्छे Marks Gain कर पाते हैं।

संज्ञा छोटे Exams तक सिमित न रहकर बड़े बड़े exams जैसे 10th and 12th के Boards Exam And Comptetive Exams में भी पूँछी जाती है।

इसलिए आपको sangya kise kahate hain, sangya ki paribhashasngya ke bhed के बारे में Proper जानकारी होना बहुत जरुरी है।

Sangya ki paribhasha (संज्ञा की परिभाषा )

ऐसा शब्द जिसके माध्यम से किसी व्यक्ति, वस्तु,स्थान, जाती या भाव का बोध होता हो,संज्ञा कहलाता है। अर्थात ”किसी व्यक्ति,वस्तु या स्थान के नाम को संज्ञा कहते हैं।”

जैसे

  • राम (व्यक्ति )
  • दिल्ली (स्थान )
  • किताब (वस्तु )
  • लड़का (जाति )
  • मिठास (भाव )

Sangya ke bhed (संज्ञा के भेद)

वैसे अगर संज्ञा के भेद की बात करें तो संज्ञा के उत्त्पति के आधार पर मुख्य तीन भेद तथा अर्थ के आधार पर पाँच भेद होते हैं।

sangya kise kahate hain
sangya kise kahate hain

उत्त्पति के आधार पर संज्ञा के भेद

उत्त्पति के आधार पर संज्ञा के तीन भेद व्यक्ति वाचक ,गणनीय व अगणनीय होते हैं जो आपको बहुत ही कम जगह पढ़ने को मिलते हैं।

क्योंकि छोटे क्लासेज में हमें केवल अर्थ के आधार पर संज्ञा के भेदों को पढ़ाया जाता है। इसलिए यह आपको Exams में भी बहुत ही कम जगह देखने को मिलेंगे।

1.व्यक्तिवाचक

वह संज्ञा शब्द जिसके माध्यम से किसी श्पेशल व्यक्ति, स्थान, वस्तु का बोध हो, व्यक्तिवाचक संज्ञा कहलाता है।

जैसे

  • राम
  • श्याम
  • ताजमहल

2.गणनीय

ऐसे संज्ञा शब्द जिनकी गणना की जा सकती हो, गणनीय संज्ञा कहलाते हैं।

जैसे

  • पेन
  • किताब
  • लड़का
  • आदमी

3.अगणनीय

ऐसे संज्ञा शब्द जिनकी गणना न की जा सकती हो, अगणनीय संज्ञा कहलाते हैं।

जैसे

  • दूध
  • पानी
  • हवा

अर्थ के आधार पर संज्ञा के भेद

अर्थ के आधार पर संज्ञा के पाँच भेद होते है, जो कुछ इस प्रकार से हैं।

  1. व्यक्तिवाचक संज्ञा
  2. जातिवाचक संज्ञा
  3. द्रव्यवाचक संज्ञा
  4. समूहवाचक संज्ञा
  5. भाववाचक संज्ञा

1.व्यक्ति वाचक संज्ञा (vyakti vachak sangya)

FAQ

Q.1 संज्ञा के कितने भेद होते हैं ?

Ans: पाँच

Q.2 sangya kise kahate hain?

Ans: हमारे चारों ओर उपस्थित किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान के नामों को संज्ञा कहा जाता है।

Q.3 उत्त्पति के आधार पर संज्ञा के कितने भेद होते हैं ?

Ans: तीन (व्यक्तिवाचक , गणनीय व अगणनीय ).

Q.4 संज्ञा को वीडियो फाइल के माध्यम से कैसे समझे ?

Ans: अगर आपको संज्ञा के बारे वीडियो के माध्यम से जानना है तो आप नीचे वीडियो देख सकते हैं। by nidhi mam from nidhi acadmy

Last Word :

दोस्तों आज हम लोगो ने gdmhindi.com के माध्यम sangya kise kahate hain, संज्ञा के भेद, उदाहरण आदि के बारे में विस्तार से पढ़ा और समझा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.